एजेंट के झांसे में आकर सऊदी अरब में फंसे पंजाब के 19 लड़के एक हेल्पलेस संस्था की वजह से घर वापस आ गए है| घर वापस आकर वह सभी लड़के चैन की सांस ले रहे है| सभी 19 लड़के मोगा, फरीदकोट और मुक्तसर से है| संस्था की को फाउंडर अमनजोत कौर का कहना है कि फरीदकोट के एक एजेंट धीरे सिंह ने इन सभी लड़कों से एक एक लाख रुपए लेकर सऊदी अरब भेजा था| इनमे संविंदर सिंह, संदीप सिंह,रेशम सिंह,यमराज सिंह,जगदेव संधू, रणजीत, सुखचैन, सुखमिंदर, जगसीर, सिंदरपाल, निशान सिंह, केवल सिंह, सुखबन्त, गुरमीत, गुरपिंदर, जसवीर, गुरमीत सिंह, हरदेव और जसवंत सिंह घर वापस लौट आएं है|

saudi arbia
mybooks

इनमे से एक लड़के का कहना है कि हम वहाँ खेतों में काम करते थे लेकिन कहा गया था कि वहाँ ड्राइवर या मशीनी नोकरी दी जाएगी लेकिन ऐसा कुछ भी नही था| कंपनी ने हमारे पासपोर्ट रख लिए| हमारा दो साल का वीसा लगा था लेकिन हम लोगों को सिर्फ 8 महीने के पैसे दिए गए क्योंकि कंपनी का पार्टनर टर्की भाग गया था| इसके इलावा हमे कहीं ओर नोकरी लगवाने की बात कही बातें कही जाती| लेकिन जब हम सभी ने इसका विद्रोह किया तो वह हमे भूख रखते|

 

लेकिन अब सभी लड़के वापस आकर खुश है| और यह लड़के इस संस्था को भी इसका आभारी मानते है क्योंकि जब इनके पास वापस आने के पैसे नहीं थे तो इस संस्था ने इनकी मदद की|