फुटबॉल दुनिया के सबसे बड़ा खेल माना जाता है| यह खेलों की सूचि में सबसे लोकप्रिय खेल है इस खेल का महाकुम्भ (फीफा वर्ल्ड कप) हर चार साल बाद होता है जिसमे देश की लगभग 32 टीमें हिस्सा लेती है| लेकिन 32 टीमो में से कुछ ही फाइनल्स जीत सकी है तो आज हम आपको दिखाते है कि किस देश ने विश्व कप पर कितनी बार कब्ज़ा जमाया है|

ब्राज़ील (5 जीत)

जीत के वर्ष 1958, 1962, 1970, 1994, 2002

brazil-world-cup-2002-600x380
worldcupcookbook

दुनिया ब्राज़ील को फुटबॉल के लिए अधिक जानती है| ब्राज़ील ने फीफा विश्व कप सबसे अधिक 5 बार जीता है| दुनिया की यह इकलौती टीम है जिसने यह कारनामा किया है| ब्राज़ील के पास हमेशा से ही फुटबॉल की बेहतरीन टीम रही है| एक से बढ़कर एक फुटबॉल का खिलाडी ब्राज़ील ने अपने देश को दिया है| जैसे – काफ़ू, रोबेर्टो कार्लोस, लुसिओ,क्लाउडियो, डीजलमा सांटोस, रोनाल्डो और रोनाल्डिनो

जर्मनी (4 जीत)

जीत के वर्ष 1954, 1974, 1990, 2014

germany-world-cup-2014-600x337
fifa

यूरोप की बात करें तो यूरोप में कई बेहतरीन टीमों के नाम है पर उनमे से जर्मनी सबसे बेहतरीन टीम है| जर्मनी ने 4 फीफा विश्व कप जीत कर दुनिया को दिखाया दिया है कि वह दुनिया की सबसे खतरनाक टीमों में से एक है| जर्मनी भी काफी वर्षों से फीफा में हिस्सा ले रही है इस टीम में जुरगें क्लिंसमन्न,फ्रांज़ बेकेनबौर, मिरोस्लाव क्लोसे और लोथर मत्थाउस जैसे खिलाडी जर्मनी के लिए खेल चुके है|

इटली (4 जीत)

जीत के वर्ष 1934, 1938, 1982, 2006

Italy's Fabio Cannavaro lifts the trophy surrounded by teammates after defeating France 5-3 in a penalty shootout in the final of the soccer World Cup between Italy and France in the Olympic Stadium in Berlin, Sunday, July 9, 2006.  ((AP Photo/Diether Endlicher)  ** MOBILE/PDA USAGE OUT **
ohmynews

यूरोप का ही एक ओर देश जिसका फुटबॉल में हमेशा दबदबा रहा है| इटली ने भी जर्मनी की तरह 4 विश्व कप में जीत हासिल की है| इटली को भी जर्मनी से कम नही आंक सकते हालाँकि इटली ने जर्मनी के मुक़ाबले थोड़े काम फाइनल्स खेले है| दूसरा फीफा विश्व कप भी इटली ने ही जीता था| डिनो जोफ, पोलो माल्दीनी,अलेसांद्रो डेल पिएरो इस टीम के खिलाडी रह चुके है और गियानलुइगी बुफ्फान और आंद्रेया पिर्लो आज भी टीम से जुड़े हुए है|

अर्जेंटीना (2 जीत)

जीत के वर्ष 1978, 1986

argentina-world-cup-1986-600x338
FIFA

ब्राज़ील के इलावा अमेरिकन महाद्वीप की दूसरी सफल टीम अर्जेंटीना है| आसमानी कपड़ों में खेलने वाली यह टीम 2 बार विश्व कप में कब्ज़ा जमा चुकी है| फीफा के शुरू होने के दौरान इस टीम को कम नही आँका जाता| और यह टीम जीत की पूरी पूरी दावेदार मानी जाती है| हालाँकि यह टीम तीन बार फाइनल में अपनी प्रतिद्वंदी से हार की मुक्की खा चुकी है| महान खिलाडी डिएगो माराडोना इस टीम के लिए खेल चुके है और लियॉन मेस्सी आज भी टीम के लिए अपना कर्तव्य निभा रहे है| जो हर टीम के लिए सबसे बड़ा खतरा है|

उरुग्वे (2 जीत)

जीत के वर्ष 1930, 1950

uruguay-world-cup-1950-600x399
pinterest

हम अमेरिकन महाद्वीप में दो टीमो की बात कर चुके है अब बात करते है तीसरी टीम की जिसका नाम है उरुग्वे| उरुग्वे ने ही पहले विश्व कप की मेजबानी की थी| और पहला विश्व कप जितने वाला देश भी उरुग्वे ही था| उसके 20 साल बाद फिर से उरुग्वे ने विश्व कप जीता| लेकिन उसके बाद से आज तक वह कभी फाइनल में भी प्रवेश नही कर पाएं है| टीम में लाडिस्लाओ मज़ूरकिएविक्ज़ उरुग्वे के लिए खेल चुके है जिनके उरुग्वे के लिए सबसे अधिक गोल है|

फ्रांस (1 जीत)

जीत का वर्ष 1998

 

france-world-cup-1998-600x338
FIFA

फ्रांस भी 1 बार विश्व कप में अपना हक़ जमा चुकी है लेकिन फ्रांस एक बहुत बेहतरीन टीम है| 1 बार की विश्व कप में जीत इनकी असली तस्वीर नही दर्शाती यह टीम उस से कई बेहतर है| फ्रांस हमेशा से खतरनाक टीम रही है उलटफेर करने में भी यह टीम माहिर है लेकिन 2006 में बड़ी दावेदार मानी जा रही फ्रांस को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था| थिएरी हेनरी और ज़िनेदिन ज़िदान फ्रांस के सबसे बड़े खिलाडी रह चुके है|

इंग्लैंड (1 जीत)

जीत का वर्ष 1966

england-world-cup-1966-600x338
BBC

फ्रांस की तरह ही इंग्लैंड एक बार विश्व कप जीत चूका है| इंग्लैंड ने आज तक एक बार ही फाइनल खेला है जिसमे उन्होंने जीत हासिल की है| लेकिन उसके बाद इंग्लैंड को कुछ ज़्यादा मोके नही मिले| यह टीम भी फ्रांस की तरह कई बार जीत की दावेदार मानी जाती गई है लेकिन कभी उनकी तक़दीर ने उनका साथ नहीं दिया| आज तक दो बार ही यह टीम सेमी फाइनल्स में जगह बना पायी है| सबसे अधिक वैलुएबल माने जाने वाले डेविड बेहकम इंग्लैंड के लिए कई वर्षों तक खेले है|

स्पेन (1 जीत)

जीत का वर्ष 2010

spain-world-cup-2010-600x338
BBC

स्पेन ने 1950 के सेमी फाइनल में जगह बनाई थी| लेकिन उसके बाद इस टीम को कमजोर आँका जाने लगा क्योंकि इनका प्रदर्शन इतना बेहतरीन नहीं था लेकिन 2007 के बाद स्पेन एक नई तरह की टीम उभर कर आई| जिसका परिणाम स्पेन ने 2010 में दिया| किसी भी टीम की उनके आगे एक न चली और स्पेन फुटबॉल की महाशक्ति बन गया| लेकिन 2014 उनके लिए बेहद खराब माना गया और टीम ने आज तक का सबसे खराब प्रदर्शन किया| डेविड विला और राउल इनके बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक है