आयकर विभाग ने नोटबन्दी के समय अपने अकॉउंट में मोटी रकम जमा करने वालों के लिए आज ऑपरेशन क्लीन मनी नामक सॉफ्टवेयर लांच किया है| यह सॉफ्टवेयर उन लोगों के लिए है जिन लोगों ने नोटबन्दी के समय अपने अकाउंट में 5 लाख से अधिक पैसे जमा किये थे| उन लोगों का पता लगाने पर पहले तो उनके मोबाइल में SMS द्वारा उनसे जबाव माँगा जायेगा| जबाव की संतुष्टि न होने पर उस के ऊपर कड़ी करवाई की जा सकती है| संदिग्ध रुपए रखने वालों के पास जबाव देने के लिए दस दिन का समय दिया जायेगा|

 

modi new software
indianexpress

 

केंद्र सरकार ने कहा कि आयकर विभाग कि वजह से पता लगाया है कि 8 नवम्बर के बाद से कुल 18 लाख लोगों के अकाउंट में 5 लाख से अधिक रुपए डालें गए है| मोदी सरकार ने एलान कर दिया है कि वह उन किसी को भी आसानी से नही छोड़ने वाले है जिनके पास या तो काला धन है या जिनके अकाउंट में संदिग्ध रुपए है| लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि यह सॉफ्टवेयर सरकार की कितनी मदद कर पायेगा|