दोस्तों क्या आप जानते है की वैलेंटाइन क्यों मनाया जाता है| आईये तो आज हम इसके बारे में आपको रूबरू कराते है

वैलेंटाइन डे के दिन का इंतज़ार हर कपल्स को रहता है| आपने देखा होगा कि वैलेंटाइन वाले दिन सभी कपल्स वैलेंटाइन सेलिब्रेट करते है या आप भी उन में से एक हो सकते है| लेकिन आप में कुछ सैयद वैलेंटाइन के बारे में नही जानते होंगे कि वैलेंटाइन क्यों मनाया जाता है|

 

तीसरी शताब्दी के वक़्त रोम में क्लोडियस नामक राजा का शासन हुआ करता था| जिसने शादी नही की थी उसका मानना था की शादी करने से पुरुष कमज़ोर पड़ जाता है| और वह मंदबुद्धि भी हो जाता है|

क्लोडियस ने इसी दौरान अपने शासन में सभी सैनिको और अधिकारियों को शादी न करने पर मजबूर कर दिया उसने एक नियम बनाया कि अगर उसके शासन में कोई भी सैनिक अथवा अधिकारी शादी करता है तो उसे मौत कि सजा दी जाएगी|

उस समय वहाँ का पादरी संत वैलेंटाइन क्लोडियस के इस फैसले से बिलकुल भी खुश नही था| उनका मन्ना था कि शादी के बिना हर पुरुष अधूरा है इसलिए हर पुरुष को शादी करने का पूरा अधिकार है|

saint valentine

 

राजा क्लोडियस से चोरी छुपे संत वैलनटाइन ने वहाँ के सैनिको और अधिकारियों की शादी करवाना शुरू कर दी| यह सिलसिला काफी समय तक चलता रहा| वह कई सैनिको की शादी करवा चूका था|

लेकिन इस बात का पता जब क्लोडियस को लगा तो उसने संत वैलेंटाइन को मौत की सजा सुना दी| फांसी से पहले उसे जेल में रखा गया| इसी दौरान उसने जेलर की बेटी को अपने प्रेम के जाल में फांस लिया|

जेलर की बेटी वैलेंटाइन के प्रेम जाल में ऐसी फंसी की वह उसके लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हो गई| वह उससे रोज़ जेल में मिलने आया करती| वैलेंटाइन के लिए उसने अपना धर्म तक बदल लिया वह भी वैलनटाइन की तरह पादरी बन गई|

फांसी से पहले वैलेंटाइन ने जेलर की बेटी को प्रेम पत्र लिखा जिसके आखिर में लिखा था तुम्हारा वैलेंटाइन| और उसके बाद वैलेंटाइन को 14 फरवरी के दिन फांसी में लटका दिया गया|

कुछ शताब्दी तक वैलेंटाइन नही मनाया जता था लेकिन उसके बाद से लगातार वैलेंटाइन हर साल 14 फरवरी को पूरी दुनिया में मनाया जाता है वैसे वैलेंटाइन डे को वैलेंटाइन जयंती के रूप में मनाया जाता है| लेकिन लोग इसे वैलेंटाइन डे के रूप में मानते है|